अभिनेत्री नहीं बनना चाहती थीं Madhuri Dixit, फिर ऐसे बनीं बॉलीवुड की धक धक गर्ल

Madhuri Dixit Trivia: फिल्म तेजाब (Tezaab) से रातों-रात स्टार बनने वाली माधुरी दीक्षित अपने वक्त में हिंदी सिनेमा की टॉप एक्ट्रेस मानी जाती हैं. माधुरी ने तेजाब फिल्म के गाने ‘एक दो तीन’ में ऐसा गजब का डांस किया कि उसके बाद उन्हें सिने जगत की डांसिंग क्वीन की उपाधि दे दी गई. हालांकि माधुरी के बहुत ही कम फैंस को ये बात पता होगी कि वो शुरू में फिल्म अभिनेत्री (Actress) नहीं बनना चाहती थीं. आइए जानते हैं माधुरी दीक्षित आखिर क्या बनना चाहती थीं.

क्या बनना चाहती थी एक्ट्रेस

माधुरी दीक्षित अपनी पढ़ाई के दिनों में काफी अच्छी छात्रा थीं. उन्होंने साइंस में अपना ग्रेजुएशन पूरा किया. विज्ञान में गहरी रुचि के कारण ही माधुरी पैथोलॉजिस्ट बनना चाहती थीं. इसी के चलते वो अभिनय के क्षेत्र में नहीं उतरना चाहती थीं, लेकिन शायद किस्मत को कुछ और ही मंजूर था. इसके बाद माधुरी को फिल्म अबोध में काम करने का मौका मिला. माधुरी की फिल्म अबोध तो नहीं चल पाई, लेकिन उन्हें काम मिलने लगा. इसके बाद पहले फिल्म तेजाब और उसके बाद राम लखन ने माधुरी दीक्षित को बॉलीवुड का बहुत ही दिग्गज कलाकार बना दिया.

यादगार किरदार

तेजाब और राम लखन की सफलता के बाद माधुरी का फिल्मी दुनिया में ऐसा मुकाम बन गया, जिसके बाद माधुरी का किसी फिल्म में होना ही सफलता की गारंटी माना जाने लगा. माधुरी दीक्षित के निभाए गए किरदारों में फिल्म खलनायक का इंस्पेक्टर गंगा देवी का रोल, हम आपके हैं कौन का निशा का किरदार, फिल्म दिल का मधू का कैरेक्टर और दिल तो पागल है का पूजा का रोल बहुत ही मशहूर है.

माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) को उनकी शानदार एक्टिंग के लिये चार बार बेस्ट एक्ट्रेस का फिल्मफेयर (Filmfare) का अवॉर्ड मिल चुका है. इसके साथ फिल्म देवदास (Devdas) के लिये माधुरी दीक्षित को बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का भी पुरुस्कार मिल चुका है.

Supply hyperlink

Leave a Comment