Moto G22 रिव्‍यू : परफॉर्मेंस में हो गई चूक!

बजट स्मार्टफोन सेग्मेंट तेजी से बढ़ रहा है और अधिकतर मन्युफैक्चरर कम दाम में ज्यादा फीचर्स देने का दांव लगा रहे हैं। ऐसी ही एक कंपनी मोटोरोला भी है। पिछले कुछ समय से मोटोरोला तेजी से स्मार्टफोन लॉन्च करने की होड़ में शामिल रही है। इसकी Moto G सीरीज में कुछ नए हैंडसेट जुड़े हैं जिनमें से एक Moto G22 भी है। 

हाल ही में लॉन्च किया गया ये स्मार्टफोन ऑन-पेपर काफी कुछ देने का दावा करता है। इसमें 50MP क्वाड कैमरा, 5000 एमएएच बैटरी और 90Hz डिस्प्ले भी शामिल है। फोन की कीमत 10,999 रुपये है और यह Realme C31 (Evaluation) और Redmi 10 Prime (Evaluation) जैसे स्मार्टफोन्स के साथ प्रतिस्पर्धा करता है। बजट सेग्मेंट में अधिक फीचर्स की चाह रखने वालों के लिए यह फोन काफी कुछ ऑफर करता है, लेकिन क्या इसकी परफॉर्मेंस भी उतनी ही अच्छी है? चलिए पता करते हैं। 
 

Moto G22 की कीमत और वेरिएंट्स

Moto G22 भारत में सिंगल वेरिएंट में आता है जिसमें कंपनी ने 4GB रैम और 64GB स्टोरेज दी है। अधिकारिक रूप से फोन की कीमत 10,999 रुपये रखी गई है लेकिन Flipkart और Motorola के अपने ऑनलाइन स्टोर पर भी मैंने इसको 9,999 रुपये में लिस्टेड देखा है। 
 

Moto G22 का डिजाइन

बजट सेग्मेंट के स्मार्टफोन के अंदाज अब बदल गए हैं। अब इस सेग्मेंट में ज्यादा प्रीमियम डिजाइन और बिल्ड देखने को मिलता है। बात Moto G22 की करें तो, इसका बैक पैनल प्लास्टिक का है जो काफी आकर्षक दिखता है। खासकर इसका कॉस्मिक ब्लू कलर जो मेरे पास था, काफी पसंद आया। फोन आइसबर्ग ब्लू और मिंट ग्रीन कलर्स में भी उपलब्ध है, जो कि फोटो में काफी अच्छा दिखता है। 

Motorola के कर्व्ड बैक पैनल वाले ठेठ डिजाइन की बजाए इसमें फ्लैट डिजाइन दिया गया है जैसा कि हमें iPhone 12 में देखने को मिलता है। फोन पर उंगलियों के निशान पड़ते हैं लेकिन किसी खास एंगल से देखने पर ही ज्यादा नजर में आते हैं। हाथ में फोन का फील अच्छा है और किनारे शार्प नहीं हैं, इसलिए प्रोटेक्टिव केस के बिना इस्तेमाल करने पर भी फोन हाथ में आरामदायक रहता है।

 इसके रियर में क्वाड कैमरा सेटअप में बाकी के बैक पैनल से थोड़ा अलग फिनिश दी गई है। इसमें मैटेलिक टैक्स्चर है लेकिन यह पूरी बॉडी के डिजाइन के साथ अच्छे से घुला-मिला दिखता है, कम से कम इसके ब्लैक वेरिएंट में। पैनल से कैमरा मॉड्यूल थोड़ा बाहर निकला हुआ है जिसके कारण समतल जगह पर रखने पर फोन स्टेबल नहीं रह पाता है। 

फोन में एक लंबा सा डिस्प्ले दिया गया है जिसमें फ्रंट कैमरा के लिए होल-पंच कटआउट है। बेजल साइड्स में काफी पतले हैं लेकिन टॉप पॉर्शन में यह स्क्रीन का कुछ हिस्सा खा जाता है। बॉटम चिन भी थोड़ी मोटी है। फोन आकार के हिसाब से हल्का है और इसका वजन 185 ग्राम है। वेट को काफी अच्छी तरह से बैलेंस किया गया है और एक हाथ से इस्तेमाल करने में भी कोई परेशानी नहीं होती। 

इसके पावर बटन और वॉल्यूम रॉकर राइट साइड में हैं। टॉप में 3.5mm हेडफोन जैक दिया गया है। बॉटम पार्ट में यूएसबी टाइप सी पोर्ट, स्पीकर ग्रिल और प्राइमरी माइक्रोफोन आपको मिल जाता है। सिम ट्रे फोन के लेफ्ट साइड में है, जिसमें दो नैनो सिम और 1TB तक के एक माइक्रोएसडी कार्ड के लिए जगह दी गई है। बॉक्स में आपको एक प्रोटेक्टिव केस और TurboPower 20W चार्जर मिल जाता है। 
 

Moto G22 के स्पेसिफिकेशंस और सॉफ्टवेयर

Moto G22 में MediaTek Helio G37 SoC दिया गया है जो कि 12nm फेब्रिकेशन प्रोसेस पर आधारित है। यह एक ऑक्टाकोर प्रोसेसर है जिसे 2.3GHz पर क्लॉक किया गया है। साथ में IMG PowerVR GE8320 GPU है जिसकी अधिकतम फ्रिक्वेंसी 680MHz की है। यह 90Hz रिफ्रेश रेट को सपोर्ट करता है जिसका इस्तेमाल इसका 6.5 इंच का एचडी प्लस आईपीएस एलसीडी डिस्प्ले अच्छी तरह से करता है।  . 

कनेक्टिविटी के लिए इसमें डुअल बैंड Wi-Fi ac, 4G LTE, GPS/A-GPS, और Bluetooth 5 का सपोर्ट है। डिवाइस में अधिकारिक IP रेटिंग तो नहीं दी गई है लेकिन कंपनी का कहना है कि इसमें पानी रोधी कोटिंग की गई है, जिससे हल्के छीटों में फोन आसानी से खराब नहीं हो सकता। डिवाइस में 5,000mAh की बैटरी है जिसके साथ 20W चार्जिंग फीचर मिलता है। 

motorola

Motorola अपने नियर स्टॉक एंड्रॉयड सॉफ्टवेयर के लिए जानी जाती है और Moto G22 पर भी यह बात लागू होती है। डिवाइस आउट ऑफ द बॉक्स Android 12 के साथ आता है जो कि इस प्राइस सेग्मेंट में ज्यादा देखने को नहीं मिलता। मेरी रिव्यू यूनिट में June 2022 का सिक्योरिटी पैच दिया गया था। कंपनी फोन के लिए तीन साल तक सिक्योरिटी अपडेट्स का वादा करती है। 

Moto G22 में Josh और Dailyhunt जैसे ऐप्स के रूप में ब्लॉटवेयर मिलता है, लेकिन सेटअप के दौरान आप इनको इंस्टॉल होने से रोक भी सकते हैं। Xiaomi और Realme से प्रेरित होकर Motorola भी Look वॉलपेपर फीचर लाया है लेकिन इसे सेटिंग्स ऐप से डिसेबल भी किया जा सकता है। 

मुझे हमेशा एक साफ सुथरा यूजर इंटरफेस (UI) एक्सपीरियंस पसंद है और Moto G22 के साथ यह संभव हो पाता है। पूरे यूआई में आप आसानी से नेविगेट कर पाते हैं और किसी भी चीज को ढूंढ पाना काफी आसान है। होम स्क्रीन और लॉक स्क्रीन को Theme Engine के साथ भी कस्टमाइज किया जा सकता है। इससे विजेट्स और ऐप आइकन वॉलपेपर का थीम कलर उठा लेते हैं जो कि काफी अच्छा दिखता है और यूआई में मिक्स हो जाता है। 

मोटोरोला के स्मार्टफोन इनके क्लासिक गेस्चर्स के लिए जाने जाते हैं जिसमें एक कराटे चॉप एक्शन है- इसकी मदद से फ्लैश लाइट को एक्टिवेट किया जा सकता है। थ्री फिंगर गेस्चर की मदद से स्क्रीनशॉट लिया जा सकता है और ट्विस्ट गेस्चर की मदद से कैमरा को लॉन्च किया जा सकता है। Moto G22 में आपको डेडीकेटेड गैलरी ऐप नहीं मिलता है, इसलिए आपको या तो Google Pictures ऐप यूज करना होगा या फिर कोई और थर्ड पार्टी ऐप डाउनलोड करना होगा। 
 

Moto G22 की परफॉर्मेंस और बैटरी लाइफ

Moto G22 में फोन सिक्योरिटी के लिए फिंगरप्रिंट स्कैनर और फेशिअल रिकग्निशन, दोनों ही ऑप्शन दिए गए हैं। फिंगरप्रिंट स्कैनर को पावर बटन के अंदर दिया गया है जिस तक पहुंच आसान है। फिंगरप्रिंट स्कैनर ने हर बार सफलतापूर्वक फोन को अनलॉक किया लेकिन इसमें थोड़ा समय लग रहा था। फोन के बटनों का टेक्टाइल फीडबैक अच्छा था। फेस रिकग्निशन कभी काम कर रहा था कभी नहीं, चाहे रोशनी पूरी पर्याप्त हो। चेहरे को पहचानने के बाद भी फोन ने अनलॉक होने में कई सेकेंड्स का समय लिया। 

Mediatek Helio G37 SoC एक एनर्जी एफिशिएंट चिप है लेकिन Moto G22 के हल्के और पतले यूआई के बावजूद यह साधारण टास्क को अच्छे से हैंडल नहीं कर पा रहा था। इंस्टाग्राम, ट्विटर और फेसबुक जैसे ऐप्स भी हल्के से अटक कर चल रहे थे। डिस्प्ले को 90Hz पर सेट करने के बाद भी इसमें स्क्रॉलिंग का वह स्मूद अनुभव नहीं मिल पाया, जैसा कि मुझे पसंद है। 

motorola

फोन के लिए मल्टी टास्किंग और ऐप्स के बीच स्विच करना भी भारी काम जैसा लग रहा था। कई बार फोन को अनलॉक करना भी एक सिरदर्द जैसा लग रहा था क्योंकि ऐप्स और विजेट्स को होम स्क्रीन पर दिखने में काफी समय लग रहा था। रिव्यू के दौरान फोन का बैक पैनल Instagram जैसे बेसिक ऐप्स को भी 15 मिनट तक इस्तेमाल करने के बाद हल्का गर्म महसूस होने लगता था। 

बेंचमार्क स्कोर्स की बात करें तो फोन ने AnTuTu पर केवल 114,222 पॉइंट्स का स्कोर किया। गीकबेंच के सिंगल व मल्टी कोर में इसने क्रमश: 170 और 955 पॉइंट्स स्कोर किए। GFXBench के कार चेजिंग टेस्ट में फोन ने केवल 5.6fps का स्कोर किया और PCMark Work 3.0 टेस्ट में केवल 5,683 का स्कोर किया। ये स्कोर एवरेज से काफी कम थे और मैंने ज्यादा की उम्मीद की थी। इसी कीमत पर मिलने वाला Realme C31 फोन Unisoc T612 SoC के साथ बेहतर स्‍कोर्स ले आता है।   

हालांकि, फोन गेमिंग के लिए नहीं बना है फिर भी, मैंने इसमें कुछ हैवी और लाइट गेम्स को टेस्ट किया ताकि फोन की क्षमता का पता लगाया जा सके। इसमें Legends Cellular और BGMI तो निचली सेटिंग्स पर भी चलाए ही नहीं जा सकते थे, जो कि हैरानी की बात नहीं थी। Name of Obligation: Cellular लो सेटिंग्स पर ठीक चला। Asphalt 9: Legends इसमें परफॉर्मेंस मोड पर लॉक हो गया था और गेम ठीक ठाक चला। Moto G22 लाइट गेम्स जैसे Temple Run और Subway Surfers को आसानी से हैंडल कर ले जा रहा था।  

फोन में हाई रेजॉल्यूशन नहीं मिलता है लेकिन यह इस प्राइस रेंज की बाकी डिवाइसेज के जितना तो मिल ही जाता है। इसमें 720×1600 पिक्सल डिस्प्ले है। हरेक ऐप आइकन के कोनों और टेक्स्ट के चारों तरफ कम रेजॉल्‍यूशन होने का पता लग रहा था। डिस्प्ले पर कलर्स बैलेंस्ड दिखते हैं और इस पर मूवी देखना और टीवी शो देखना एक अच्छा एक्सपीरियंस रहा। 

अलग अगल एंगल  से कंटेंट देखने में कलर्स में कोई शिफ्ट दिखाई नहीं दिया। डिस्प्ले में Widevine L1 certification है लेकिन Netflix इसको सपोर्ट करता नहीं दिखा। Amazon Prime Video पर भी मैं 1080p रेजॉल्यूशन में ही मूवी देख पा रहा था। कलर्स के लिए सैचुरेटेड और नैचरल में से चुनने का विकल्प मिल जाता है। फोन की स्पीकर क्वालिटी ठीकठाक है। 

motorola

थोड़ी गेमिंग और कुछ मूवी स्ट्रीम करने के साथ इसकी बैटरी एक दिन से कुछ ज्यादा ही चल जाती है। हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में फोन 20 घंटे और 10 मिनट तक चला जो कि काफी प्रभावित करने वाला है। इसके साथ मिलने वाले 20W TurboPower चार्जर के साथ यह आधे घंटे में 36 प्रतिशत और एक घंटे में 59 प्रतिशत चार्ज हो रहा था। फोन को पूरी तरह से चार्ज होने में 2 घंटे का समय लगा। 
 

Moto G22 के कैमरा

फोन में क्वाड कैमरा सेटअप दिया गया है। Moto G22 के कैमरा मॉड्यूल में f/1.8 अपर्चर वाला 50-मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा, f/2.2 अपर्चर वाला 8-मेगापिक्सल का अल्ट्रा-वाइड-एंगल कैमरा 118-डिग्री फील्ड ऑफ व्यू के साथ, 2-मेगापिक्सल का डेप्थ कैमरा /2.4 अपर्चर के साथ और 2-मेगापिक्सल का मैक्रो कैमरा f/2.4 अपर्चर के साथ दिया गया है। 

फ्रंट में 16 मेगापिक्सल का कैमरा f/2.45 अपर्चर के साथ मिलता है। कैमरा इंटरफेस सीधा और साफ-सुथरा है। सभी जरूरी शूटिंग मोड और सेटिंग आपको पहुंच में मिल जाते हैं। इसमें फोटो और वीडियो के लिए डुअल कैप्चर मोड भी दिया गया है, जो कि उपयोगी भी है। कई तरह के फिल्टर्स और ब्यूटी मोड भी दिए गए हैं। हालांकि, कैमरा ऐप इस्तेमाल करते समय कई बार क्रैश हुआ, खासकर यूआई में मोड्स के बीच स्विच करते समय।  

प्राइमरी कैमरा डिफॉल्ट रूप से 9.4 मेगापिक्सल के फोटो कैप्चर करता है। सेटिंग्स में आपको 6 मेगापिक्सल या हाई रेजॉल्यूशन में सिलेक्ट करने का विकल्प भी मिल जाता है। फोन से खींचे गए फोटो ऊपर से अच्छे दिखे लेकिन जूम करने पर पर्याप्त डिटेल्स की कमी लगी। इसके प्राइमरी कैमरा की एक बात जो मुझे अच्छी लगी, कि यह कलर्स को लगातार न्यूट्रल रख रहा था जिससे एडिटिंग में प्रयोग करने के लिए काफी गुंजाइश मिल जाती है। 

img
img

मेन कैमरा फोटो को मेरी पसंद के हिसाब से कुछ ज्यादा ही क्रॉप कर दे रहा था। अल्ट्रा वाइड एंगल कैमरा से फोटो में डिटेल्स काफी कम हो गईं और इमेज में कूल टोन दिखने लगी। हालांकि, किनारों पर डिस्टॉर्शन बहुत कम था, जो कि एक अच्छी बात है। 

मैक्रो फोटो औसत रहे क्योंकि कम रेजॉल्यूशन लेंस होने की वजह से इसमें डिटेल्स की कमी थी। पोर्ट्रेट शॉट्स अच्छे दिखे और फोन फोकस को जल्दी से लॉक भी कर पा रहा था। कैमरा ऐप आपको शूट करने से पहले ब्लर लेवल चुनने का ऑप्शन भी देता है। 

img

लो लाइट में फोन के मेन कैमरा ने औसत फोटो लिए। कम रोशनी की अधिकतर फोटो में काफी नॉइज मिला। अल्ट्रा वाइड एंगल कैमरा में डिटेल्स ठीक मिलीं लेकिन फोटो बस इस्तेमाल करने लायक ही थी। Evening Imaginative and prescient मोड में फोटो ब्राइट हो गई लेकिन कुछ हिस्सों में नॉइज बढ़ गया था। 

फ्रंट कैमरा से ली गई फोटो में डिटेल्स अच्छी थीं। सेल्फी में पीछे से आ रही रोशनी में कैमरा फोटो बैकग्राउंड को ओवरएक्सपोज कर रहा था। पोर्ट्रेट शॉट्स हर बार अच्छे नहीं आए क्योंकि कैमरा ब्लर लेवल में कई बार चूक रहा था। नाइट में ली गई सेल्फी औसत से कम क्वालिटी की थी। 

img
img

Moto G22 30fps में 1080p और 720p वीडियो शूट कर सकता है। दिन की रोशनी में वीडियो साधारण रिकॉर्ड हुआ और डिटेल्स कम थीं। पर्याप्त रोशनी में भी ग्रेन्स दिख रहे थे और स्टेबलाइजेशन की कमी थी। लो-लाइट में कैप्चर किए गए वीडियो में काफी नॉइज मिला। आप अल्ट्रावाइड कैमरा के साथ वीडियो रिकॉर्ड कर सकते हैं लेकिन रिकॉर्डिंग के दौरान दूसरे कैमरा में स्विच नहीं कर सकते। 
 

निष्कर्ष

Moto G22 अपने क्वाड कैमरा और डिजाइन से थोड़ा ध्यान खींचता है। इसका नियर स्टॉक एंड्रॉयड एक्सपीरियंस और तीन साल तक मिलने वाले सिक्योरिटी अपडेट्स का वादा इसको इस प्राइस सेग्मेंट के दूसरे डिवाइसेज से अलग खड़ा करता है। 5,000mAh बैटरी काफी उपयोगी है और उस पर 20W चार्जर एक बोनस के जैसा है। 90Hz रिफ्रेश रेट और Android 12 भी इसके पॉजिटिव पॉइंट्स हैं। 

दुर्भाग्य से, ये सभी फीचर्स इसकी पूअर परफॉर्मेंस की भरपाई नहीं कर पाते हैं। Moto G22 रोजमर्रा के इस्तेमाल में स्मूद एक्सपीरियंस नहीं देता, बेसिक टास्क में भी फोन अटकता नजर आता है। कंपनी अगर इसमें क्वाड कैमरा देने की बजाए अधिक स्मूद एंड्रॉयड एक्सपीरियंस देने पर फोकस करती तो, इस प्राइस सेग्मेंट में यह डिवाइस एक रिकमेंड करने लायक फोन हो सकता था। 

अगर आप इसके विकल्प में कुछ चाहते हैं तो Realme C31 और Redmi 10 Prime अच्छे ऑप्शन हैं। अगर क्लीन सॉफ्टवेयर आपकी प्राथमिकता है तो आप Nokia G21 की ओर भी नजर डाल सकते हैं। 
 

Supply hyperlink

Leave a Comment