Mozilla Firefox से हो सकता है आप पर साइबर हमला, सरकार ने जारी की एडवाइजरी

Mozilla Firefox Bug: इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले लगभग सभी लोग Mozilla Firefox को जरूर जानते होंगे. Mozilla Firefox भारत में इस्तेमाल होने वाले ब्राउजर्स में काफी लोकप्रिय वेब ब्राउजर है. भारत में बहुत बड़ी संख्या में लोग इसका इस्तेमाल करते हैं. अगर आप भी उन्ही लोगों में से एक हैं तो सावधान हो जाइए क्योंकि भारत सरकार ने मोज़िला फायरफॉक्स को लेकर अपनी एक एडवाइजरी जारी की है, जिसमें सरकार ने यूजर्स को सतर्क रहने की सलाह दी है.

इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम (CERT-In) ने मोजिला फायरफॉक्स ब्राउजर में कई ऐसी कमियां देखी, जिसके चलते यूजर्स की सुरक्षा के लिए एडवाइजरी जारी करनी पड़ी. एजेंसी ने बताया कि इन खामियों का फायदा उठा कर हमलावर यूजर्स को एक खास तौर से बनाई गई वेबसाइट पर ले जा सकते हैं. CERT-In ने अपनी एडवाइजरी सभी यूजर्स को सलाह दी है कि वे अपने मोजिला फायरफॉक्स (Mozilla Firefox) के वर्जन 105 और मोजिला फायरफॉक्स ईएसआर (Mozilla Firefox ESR) को वर्जन 102.3 में अपडेट कर लें. Mozilla Firefox के भारत समेत पूरी दुनिया में बहुत बड़ी संख्या में यूजर्स हैं. यूजर्स की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने मोज़िला फायरफॉक्स को लेकर अपनी एक एडवाइजरी जारी कर दी है. अगर आप भी Mozilla Firefox को इस्तेमाल करते हैं तो सतर्क हो जाएं. जानिए आखिर क्या है पूरा मामला.

CERT-In क्या है?

CERT-In एक राष्ट्रीय साइबर एजेंसी है जिसका पूरा नाम इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम है, जो भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अंतर्गत काम करती है. सरकार ने साइबर सुरक्षा से संबंधित खतरों से निपटने के लिए इसे नोडल एजेंसी बनाया हुआ है.

सरकार ने एडवाइजरी में क्या कहा?

सरकार ने एडवाइजरी में कहा कि मोजिला फायरफॉक्स(Mozilla Firefox) ब्राउजर में कई खामियां मौजूद हैं. जिनका इस्तेमाल करके साइबर क्राइम करने वाले रिमोट द्वारा सुरक्षा प्रतिबंध को बायपास करने, मनमाने कोड को एग्जीक्यूट करने और यूजर्स के सिस्टम पर संवेदनशील जानकारी का खुलासा कर यूजर्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं.

सितंबर महीने की शुरुआत में ही CERT-In ने मोजिला फायरफॉक्स(Mozilla Firefox) ब्राउजर में कमियों को देखते हुए आगाह कर दिया था. इस ब्राउज़र में हैकर्स को डिवाइस के सिक्योरिटी सिक्टम को तोड़ने की परमिशन मिल सकती है. इसी कारण अब सरकार ने अपनी एडवाइजरी में कहा है कि मोजिला फायरफॉक्स ब्राउजर में मिले बग्स से हमलावर सुरक्षा प्रतिबंधों को बायपास कर सकता है और साथ ही मनमाने कोड को एग्जीक्यूट कर टारगेट सिस्टम पर सर्विस अटैक भी कर सकता है. इन हमलों से बचाव के लिए सरकार ने यूजर्स को अपने मोजिला फायरफॉक्स ब्राउजर को अपडेट करने की सलाह दी है.

यह भी पढ़ें-

Comparability: Amazon या Flipkart किस Sale में कम कीमत में उपलब्ध है iPhone 14? जानें बेस्ट डील

चीनी कंपनी ने पेश किया iPhone 14 Professional Max का क्लोन, कीमत है सिर्फ 2000 रुपए

Supply hyperlink

Leave a Comment