Telephone Hacked Signal: जब दिखे ये 5 संकेत को ना करें इग्नोर, वरना बैंक अकाउंट हो जाएगा खाली

नई दिल्ली। टेक्नोलॉजी के बढ़ते खतरों में एक फोन हैकिंग है। पिछले कुछ वर्षों में फोन हैकिंग की घटनाओं में बढ़ोतरी दर्ज हुई है। हालांकि हैकिंग की घटनाओं को आसानी से पहचानना मुश्किल होता है। साथ ही ज्यादातर लोगों को मालूम नहीं होता है कि कैसे पता लगाया जाए कि आपका मोबाइल फोन हैक हो गया है। फोन हैक होने से आपके मोबाइल पर हैकर्स का कंट्रोल हो जाता है। जिससे हैकर्स आपके अकाउंट से पैसे पैसे गायब कर सकते हैं। साथ ही आपके प्राइवेट वीडियो या फिर फोटो को लीक कर सकते हैं, तो आइए जानते हैं कि आखिर कैसे हैकिंग को मालूम किया जा सके…

मोबाइल ऐप क्रैश
अगर आपके मोबाइल में मौजूद ऐप्स बार-बार क्रैश हो रहे हैं। या फिर मोबाइल पर वेबसाइट लोड होने में वक्त लग रहा है, तो यह आपके मोबाइल फोन के हैक होने का संकेत है। इसके अलावा अगर वेबसाइट कुछ अलग दिख रही है, उस वक्त भी वेबसाइट के हैक होने का खतरा बढ़ जाता है।

संवेदनशील पॉपअप और विज्ञापन
फोन ओपन करते हैं और किसी वेबसाइट पर विजिट करते हैं, तो अचानक से संदिग्ध पॉपअप या फिर विज्ञापन दिखने लगें, तो समझ जाएं कि आपका मोबाइल फोन हैक हुआ है। या फिर मोबाइल फोन में मैलवेयर का हमला हुआ है। ऐसे हालात में आपके निजी डेटा के चोरी होने का खतरा बढ़ जाता है।

फ्लैश लाइट का बार-बार ऑन होना
अगर बिना ओपन किए आपके मोबाइल की फ्लैश लाइट बार-बार ऑन हो रही है, तो ऐसा हो सकता है कि हैकर्स आपके मोबाइल को हैक करने की कोशिश कर रहे हैं। इस तरह के संकेट को इग्नोर नहीं करना चाहिए। वरना आपको भारी नुकसान भी उठाना पड़ सकता है।

जल्दी बैटरी डेड होना
स्मार्टफोन की बैटरी जल्दी डेड हो रही है, तो हो सकता है कि आपके फोन में मैलवेयर या फर्जी मोबाइल ऐप मौजूद हो, क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि मैलिशियस कोड इंस्टॉल होने की वजह से फोन की बैटरी जल्दी डेड हो जाती है। हालांकि बैकग्राउंड ऐप ऑन होने की वजह से भी बैटरी जल्द डेड हो जाती है।

स्मार्टफोन का स्लो होना
अगर आपका मोबाइल फोन अचानक स्लो हो गया है या बार-बार हैंग हो रहा है, तो हो सकता है कि आपके डिवाइस में मैलवेयर मौजूद है। ऐसे में अपने मोबाइल को बूट कर दें। वहीं हो सकते तो फोन को फैक्टरी रीसेट करें। लेकिन फैक्ट्री रीसेट करने से पहले फोन का डेटा सेव कर लें।

Supply hyperlink

Leave a Comment