Cellular-Laptop computer यूजर्स दें ध्यान! भारत सरकार ने जारी किया अलर्ट, तुरंत अपडेट करें अपना सर्चिंग ब्राउजर

नई दिल्ली। Cyber Alert CERT-IN: भारत सरकार की कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पांस टीम (CERT-In) की तरफ से मोबाइल और लैपटॉप यूजर्स के लिए अलर्ट जारी किया गया है। यह अलर्ट खासतौर पर उन यूजर्स के लिए हैं, जो कि मोजिला फायरफॉक्स (Mozilla Firefox) ब्राउजर इस्तेमाल करते हैं। दरअसल भारत सरकार को मोजिया फायरफॉक्स ब्राउजर में कई तरह की खांमियां मिली हैं, जो मोबाइल और लैपटॉप यूजर्स के खतरा बना सकती है। मतलब हैकर्स इससे बैंकिंय या अन्य फ्रॉड को अंजाम दे सकते हैं।

रकार ने जारी किया अलर्ट
सरकार का कहना है कि फायरफॉक्स में कुछ खांमिया मिली है, जो कि हैकिंग की वजह बन सकती हैं। CERT-In की एडवाइजरी में मोजिया फायरफॉक्स यूजर्स को तुरंत अपना ब्राउजर वर्जन 105 और मोजिला फायरफॉक्स ESR से वर्नज 102.3. अपडेट करने को कहा गया है। बता दें कि CERT-In एजेंसी नेशनल साइबर एजेंसी है, जो कि मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स और इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के तहत काम करती है। यह एक नोडल एजेंसी है, जो साइबर हमलों के खतरों को डील करती है।

इस तरह की एडवाइजरी का मतलब?
सरकार समय-समय पर साइबर हमलों के संभावित खतरों को लेकर यूजर्स को आगाह करती रहती है, जिससे यूजर्स हैकिंग या फिर बैंकिंग फ्रॉड से बचे रहे। सरकार टारगेटेड हमलों से डिवाइस को बचाने का काम करती है। हाल ही में इस एजेंसी ने मोजिला फायरफॉक्स में मेमोरी सेफ्टी बग का पता लगाया है, जो कि सिक्योरिटी प्रतिबंधों को बायपास करने में काबिल है।

कौन सा सॉफ्टवेयर होगा प्रभावित
CERT-In का मानना है कि मोजिला फायरफॉक्स यूजर्स को लेटेस्ट वर्जन 105 वाला ब्राउजर यूज करना चाहिए। साथ ही मोजिला फायरफॉक्स ESR वर्जन को 102.3 में अपडेच करना चाहिए। अगर डिवाइस पुराने वर्जन पर वाले फायरफॉक्स पर काम कर रही है। साधारण शब्दों में कहें, तो मोजिला फायफॉक्स ब्राउंजकर करने वाले यूजर्स को लेटेस्ट वर्जन वाला ब्राउंजर ही इस्तेमाल करना चाहिए। यह ब्राउजर सिक्योरिटी गाइडलाइन पर बिल्कुल खरा उतरता है।

Supply hyperlink

Leave a Comment